Technology का सही उपयोग: For Kids & Youth

आज का समय Technology का समय है। हमारी सम्पूर्ण दिनचर्या मे मे तकनीकी का बहुत ही ज्यादा योगदान है। हमरी जिंदगी मे Gadgets, Apps इत्यादि हमारे जीवन का एक हिस्सा बनते जा रहे है। लेकिन जिस प्रकार से इन चीजों ने हमारे जीवनशैली को आसान बनाया है। वहीं कहीं न कहीं इनके सही उपयोग ना करने के कारण इसका दुष्परिणाम भी हमे देखने को मिलता है। प्रायः हमे समाचारों मे देखने को मिलता है की कई Social Media Apps और Channels के कारण कई अपराधों को अंजाम दिया जाता है। तो जहां तकनीकी हमारे लिए वरदान है वही इसके कुछ दुष्प्रभाव भी है। तो इस लेख के जरिये हम देखने का प्रयास करेंगे के किस प्रकार से तकनीकी का सही प्रयोग किया जाये और इसकी सहायता से हम अपने जीवनशैली को आसान बनाए। हमारा विषय खासकर बच्चों और युवाओं पर केन्द्रित है। क्योंकि कहीं न कहीं अज्ञानता वश यही वर्ग है जो तकनीकी के बुरे जाल मे फंस सकता है। हमे देखना होगा कहा इंका उपयोग सही है। और कहाँ पर Restriction होना चाहिए जिसमे घर के अभिभावक और वरिष्ठ सदस्यों की क्या जिम्मेदारियाँ है।

Technology for Learning

अगर तकनीकी का सबसे उत्तम उपयोग बताया जाये तो सबसे पहले बात आएगी कुछ नया सीखने की। आज तकनीकी के कारण हमारे पास बहुत ही मात्रा में Content उपलब्ध है सीखने के लिए। यहा पर सीखने की प्रक्रिया दो तरह से हो सकती है पहली तो अपनी Hobby को पूरा करने के लिए द्वितीय अपनी Study की आवश्यकता पूरी करने के लिए। आज तकनीकी के समय मे हमे कोई भी चीज ढूँढने मे परेशानी नहीं होती है। चाहे बात बच्चों की हो या फिर युवाओं की दोनों ही वर्ग के सदस्यों के लिए अनगिनत सामाग्री सीखने के लिए Online Videos एवं Apps इत्यादि के जरिये मिल जाएगी तो यहाँ Learning Content को हम दो भागों मे बाँट कर देखेंगे जो इस प्रकार से है।

Learning Content For Kids

कहते हैं मनुष्य के मस्तिष्क का सम्पूर्ण विकास बाल्यावस्था मे ही होता है। तो अगर तकनीकी का सही उपयोग करते हुए हम इसका लाभ उठाए तो हम हमारे बच्चे को विकास के सही मार्ग पर आगे बढ़ते देख सकते है। तो अब हम बात करेंगे कि कैसे बच्चों मे शीखने की कला को विकसित कर सकते है। सबसे पहले हम बात करेंगे कंटैंट की। आज हमारी पहुँच बहुत सारी videos और websites तक है। हम इनहि की सहायता से बच्चो में सीखने की कला को विकसित कर सकते है। सबसे पहले बात करेंगे Youtube की आज बहुत सारे यूट्यूब चैनल हमे मिल जाएँगे जो हमारे बच्चे के विकास में हमारी सहायता कर सकते है। जिसमे Parenting Channel, Rhymes Channel, किस्से कहानियों के चैनल उपलब्ध है। उदाहरण के लिए The Kids Pool और Kids Channel India इत्यादि कई सारे महत्वपूर्ण चैनल हमे देखने को मिल सकता है। इसके बाद बात आती है। Apps और Websites की तो इनकी भी संख्या बहुत ही ज्यादा है। उदाहरण के लिए KidzByte, Start write India, Voot Kids, Byju’s इत्यादि जैसे Apps और Websites ढूँढने को आसानी से मिल जाएँगे।

Learning Content For Youth & Students

अब बात करे युवाओं और विद्यार्थियों के लिए तकनीकी के जरिये क्या मिल सकता है। तो इनके लिए भी बहुत सारी ऐसी सामाग्री उपलब्ध है जो इनके पढ़ाई और प्रतियोगिता की तैयारी के लिए उपयोगी हो सकती है। सबसे पहले बात करेंगे पढ़ाई लिखाई की। तो हम देख सकते है। स्वयं NCERT ने E-Pathshala नमक App उपलब्ध कराई है जहां हम सभी विषयो की पाठन सामाग्री को आसानी से प्राप्त कर सकते है। साथ ही साथ बहुत सारे विषयों पर Video Lecture भी वहाँ हम प्राप्त कर सकते है और उनका लाभ उठा सकते है। इसके साथ ही साथ कई सारे Paid Apps जैसे Vedantu, Byju’s इत्यादि के जरिये सम्पूर्ण शिक्षण संबंधी जानकारी प्राप्त कर सकते है। और भी बहुत सारी online videos website एवं Youtube Channels हमे मुफ्त मेशिक्षा संबंधी अच्छी जानकारी प्रदान करे। अब बात करे प्रतियोगी तैयारी को लेकर तो बहुत सारे paid और free Apps और Youtube Channels एवं Website उपलब्ध है। उदाहरण के लिए Sarkari Exam, SSC Adda, Adda 24X7, Exam Guru इत्यादि। इन सभी माध्यमों मे free और paid दोनों तरह के content बहुत ही आसानी से उपलब्ध हो जाते है।

Technology for Entertainment

जब बात तकनीकी का प्रयोग मनोरंजन की पूर्ति के लिए की जाती है तो यहाँ कोई भी हो चाहे वो बच्चा हो चाहे युवा हो या फिर वयस्क सबको बहुत ही सावधानी रखने की आवश्यकता है। लेकिन हम बात कर रहे है बच्चो और युवाओं की तो सबसे पहले ये कहना चाहूँगा मनोरंजन हम सबसे के लिए बहुत आवश्यक है लेकिन इसकी लत सही नहीं। आज तकनीकी के जरिये बहुत सारे Apps और Entertainment Channels उपलब्ध है। हर कोई Netflix, Prime इत्यादि जैसे Apps का उपयोग करते है। इसके साथ ही साथ हम कई सारे Whatsapp, Facebook, Twitter, Tiktok जैसे Social Media प्लेटफॉर्म का उपयोग करते है। PUBG जैसे न जाने कितने ही ऑनलाइन गेम्स का प्रयोग करते है। लेकिन इनके प्रयोग करते समय बहुत सारी सावधानियाँ और और एक निर्धारित समय ही सुनिश्चित होना चाहिए। हमे अपना सम्पूर्ण समय इन सब चीजों मे बर्बाद होने से बचाना चाहिए। और इन सबमे Content का चयन करते समय भी सावधानी रखनी चाहिए। तभी हम तकनीकी का सही प्रयोग मनोरंजन की पूर्ति हेतु कर सकते है।

नवसृजन हेतु तकनीकी का प्रयोग

अभी तक तो हमने बात की कि तकनीकी के जरिये हम अपने Daily Routine Life को आसान कैसे बनाए। अब उपरोक्त बिन्दु के जरिये हम देखेंगे कि किस प्रकार तकनीकी हमारे जीवन मे बदलाव भी ला सकती है और ये बदलाव हमारे जीवन मे सकारात्मक ऊर्जा का प्रवाह करेगी। मेरी नजर मे तकनीकी का सबसे अच्छा प्रयोग यही हो सकता है। और यही सबसे बड़ा तकनीकी का वरदान है। तकनीकी के जरिये हम बहुत सारी अच्छी चीजे सीख सकते है। जो न तो हमारे Syllabus का विषय है और ना ही हमारे Competitive Exam की तैयारी मे काम आएगी। बल्कि ऐसी चीजे जिनके जरिये हम अपने जीवन जीने का नजरिया बादल सकते है। हमारे मन में हमेशा से कुछ न कुछ नया सीखने की ललक रहती है। चाहे वो हमरे Hobby से संबन्धित हो सकती है या फिर किसी के जरिये हम Inspired होकर कुछ सीखने की सोच रहे हो। इसके लिए हमारे पास तकनीकी के कारण बहुत ही सामाग्री उपलब्ध है। हम Online Youtube Channels और Websites के जरिये बहुत सारी चीजे आसानी से घर बैठे सीख सकते है। और अपने खाली समय का सदुपयोग भी कर सकते है। उदाहरण के रूप में हम Cooking, Dancing, Instrument Playing, Singing, New Language Learning इत्यादि बहुत सारी चीजे सीख कर लोगो को अचंभित कर सकते है और अपने जीवन में एक सकारात्मक बदलाव ला सकते है। इसके अच्छा और सरल तकनीकी का उचित प्रयोग कुछ भी नहीं हो सकता है।

निष्कर्ष

इस लेख के जरिये हमने ये बताने का प्रयास किया है कि तकनीकी सच मे हमारे जीवन में बहुत ही उपयोगी साबित हो सकती है। लेकिन तभी तक जब तक हम इसका उपयोग सही अर्थो में करे। और जब तक हम कुछ सावधानियाँ बरतेंगे तब तक हम तकनीकी के सम्पूर्ण खूबियों का दोहन करते रहेंगे। यहा हमे स्वयं में अस्वीकृत समग्रियों से बचकर रहना चाहिए। अभिभावकों को भी अपने बच्चों पर नजर अवश्य होनी चाहिए तथा तकनीकी के दुष्प्रभावों के बारे मे भी अपने बच्चो को सतर्क करते रहना चाहिए। बच्चों के द्वारा की जा रही Activity, उनकी Social Media उपयोग की जानकारी उन्हे अवश्य रखनी चाहिए। और इसके साथ ही साथ उन्हे अच्छी अच्छी समग्रियों के चयन का सही तरीका और बुरी समग्रियों से बचने के तरीके बताते रहना चाहिए। फिर हम देख सकते है कि किस प्रकार से Technology उनके और उनके बच्चो के जीवन मे सकारात्मक बदलाव ला सकते। इसके साथ ही हम इतना बोल सकते है कि तकनीकी किसी भी रूप में गलत नहीं है। बल्कि हमारे चयन के तरीके और हमारे स्वविवेक के जरिये ही हम इसका सार्थक सदुपयोग कर सकते है।

||इति शुभम्य||

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *