किताबों की दुनिया: किस्से कहानियों के परिपेक्ष्य में

किताबों की दुनिया: किस्से कहानियों के परिपेक्ष्य में

भले ही हम एक डिजिटल दुनिया में रह रहे हो, कितना ही हमारे लिए बहुत सारी विषय वस्तु मोबाइल, इंटरनेट इत्यादि पर मिल जाती हो। लेकिन फिर भी जो सुकून हमें किताबों में किस्से कहानियाँ (story book hindi) पढ़ने को मिलती है। वो कही और नहीं मिलती।

अगर बात करे मोबाइल इंटरनेट से पहले के दुनिया की तो हमारे मनोरंजन का एक प्रमुख साधन किताबें ही होती थी। जो मनोरंजक होने के साथ-साथ ज्ञानवर्धक भी होती थीं। तो चलिये शुरुआत करते है कि किस प्रकार किताबों का योगदान किस्से कहानियों के रूप में हमारे जीवन में रही है।

किताबों का वर्गीकरण

अगर किस्से कहानियों के परिपेक्ष्य में किताबों के वर्गीकरण की बात करें, तो उन्हे हम तीन प्रमुख भागों मे रख सकते है विस्तार रूप से उनका विवरण इस प्रकार से है।

ज्ञानवर्धक एवं प्रेरणादायक कहानियाँ- उपरोक्त श्रेणी की बात करें तो बचपन से ही हमारे घरों में नाना-नानी, दादा-दादी के द्वारा जो कहानियाँ सुनाई जाती है वो प्रेरणादायक होती है। अब अगर किताबों की श्रेणी में इनकी बात की जाए तो कुछ प्रमुख पुस्तकें इस प्रकार से है।

1. पंचतंत्र-

विष्णु शर्मा कृत पंचतंत्र की कहानियाँ बहुत प्राचीन काल की कहानियों का संग्रह है। इसकी कहानियाँ बहुत ही ज्ञानवर्धक एवं शिक्षाप्रद होती है। इसकी कहानियों का प्रमुख फोकस नीति से संबन्धित होता है। पंचतंत्र की कहानियाँ मूलतः संस्कृत भाषा में हैं।

आज जो कहानियाँ हम पंचतंत्र की पढ़ते है वो उनका अनुवाद रूप है। इस पेज पर आगे के लेखो में हम इन कहानियों को विस्तृत रूप में देखेंगे।

2. हितोपदेश-

नारायण पंडित द्वारा संकलित हितोपदेश की कहानियाँ भी संस्कृत भाषा में मूल रूप में उपलब्ध है। हितोपदेश की कहानियों का सबसे प्रमुख ध्यान देने वाली चीज यह थी कि इसमे मानव के साथ साथ पशु-पक्षियों के संवाद तथा दोनों के मध्य संवाद देखने को मिलता है। हितोपदेश की कहानियाँ भी उपदेशात्मक होती है।

3. एक लोटा पानी एवं अन्य किंवदन्ति-

शायद उपरोक्त उपशीर्षक से कुछ लोग अनभिज्ञ हो। लेकिन यदि कोई मोबाइल इंटरनेट से पहले कि दुनिया को देखा होगा, तो उसे जरूर इन शब्दो का मतलब समझ आएगा। एक लोटा पानी से मतलब उन पुस्तकों से है जो विभिन्न ज्ञानवर्धक कहानियों से भरी है लेकिन उनके मूल लेखकों का कोई पता नहीं है।

जैसे कि एक लोटा पानी एक पुस्तक है जिसमे बहुत सारी ज्ञानवर्धक उपदेशात्मक कहानियाँ मिलती है। अब बात करते है किंवदन्ति की। सामान्य शब्दों में कहे तो किंवदन्ति का का अर्थ होता है कही सुनी बातें।

तो किंवदन्ति से तात्पर्य उन कहानियों से है जो हमने कही सुनी और जिससे सुनी उन्हे किसी और ने सुनाया। यह क्रम ऐसे ही आगे बढ़ता रहा लेकिन ये कहानियाँ हमेशा ही ज्ञानवर्धक रही।

धार्मिक एवं अलौकिक कहानियाँ- द्वितीय श्रेणी है धार्मिक और अलौकिक कहानियों की। चूंकि हम एक ऐसे देश से नाता रखते है जो धार्मिक रूप से बहुत ही विशाल और समृद्ध है। और इन धर्मों से जुड़े बहुत सारे ग्रंथ और पुस्तके देखने को मिलती है। इन्ही पुस्तकों से हमे बहुत सारी कहानियाँ प्राप्त होती है।

प्रायः इन कहानियों का मूल उद्द्येश्य उन धर्मों का प्रचार एवं प्रसार करना है। लेकिन ये कहानियाँ भी बहुत ही प्रेरणादायक एवं ज्ञानवर्धक होती है। इस श्रेणी के अंतर्गत हमे नैतिक कहानियों आदर्श जीवन शैली कि व्याख्या करती कहानियों को रख सकते है। जो मूल रूप में संबन्धित धर्म के आदर्शों पर केन्द्रित है।

अन्य मनोरंजक कहानियाँ- उपरोक्त दो श्रेणियों के अलावा यह एक श्रेणी की बात जरूर करनी चाहिए जो अन्य श्रेणी की कहानियों को वर्गीकृत करती है। इस श्रेणी को हम सीमित दायरे मे नहीं रख सकते वो सभी कहानियाँ जो किसी न किसी रूप में हमारा मनोरंजन करती है।

उन्हे हम इस श्रेणी में रख सकते है। आधुनिक काल के लेखको द्वारा लिखित समस्त कहानियों को भी हम इस श्रेणी के अंतर्गत रख सकते है।

निष्कर्ष

अंततः यदि देखा जाए तो हमारे पास किस्से कहानियों के संबंध में पुस्तकों का बहुत ही बड़ा संग्रह हमें देखने को मिलता है। निकट भविष्य में हम इन सभी तरह की किस्से कहानियों के ऊपर चर्चा इस पेज पर अपने लेखों के जरिये करते रहेंगे।

आशा करता हूँ आप को अवश्य आनंद की अनुभूति होगी मेरा उद्द्येश्य होगा उन कहानियों की व्याख्या करने की जो कभी न कभी हमे सुनने को मिली जो बहुत ही लोकप्रिय है।

तथा जो हमारे बचपन की जिंदगी के पन्नो को पुनः खोल देते है। मेरा उद्द्येश्य सिर्फ इतना ही है कि उन कहानियों को आपके सम्मुख प्रस्तुत करे जो हमे किसी न किसी रूप में हमारा मार्गदर्शन करते है। तथा हमे एक खुशहाल एवं आदर्श जिंदगी जीने को प्रोत्साहित करते हैं।

||इति शुभम्||

Leave a Reply