कार्तिक मास कल्प मास – भगवान विष्णु की कृपा प्राप्त करने का सर्वोत्तम मास (अयोध्या कार्तिक मास मेला)

कार्तिक मास कल्प मास – भगवान विष्णु की कृपा प्राप्त करने का सर्वोत्तम मास (अयोध्या कार्तिक मास मेला)

भारतीय संस्कृति और परंपरा के अंतर्गत श्रावण मास के उपरांत आने वाले चतुर्मास का बहुत ही अधिक महत्व है। और इन्ही चतुर्मास का अंतिम मास कार्तिक मास होता है जो कि पूर्ण रूप से भगवान विष्णु को समर्पित है। मान्यता है कि इस मास मे भगवत भक्ति और आराधन करने मात्र से मनुष्य सभी कष्टों…

देव दीपावली धरती पर स्वर्ग का एहसास- अयोध्या एवं वाराणसी

देव दीपावली धरती पर स्वर्ग का एहसास- अयोध्या एवं वाराणसी

कार्तिक मास की अमावस्या तिथि को हम सब दीपावली का त्योहार मानते है। मान्यता है कि इस दिन प्रभु श्रीराम लंका से अयोध्या वापस आते है और अमावस्या की काली रात होने के कारण दीपों से पूरे नगर को सजाया जाता है साथ ही साथ इसी तिथि को माता लक्ष्मी का अवतरण दिवस माना जाता…

भीष्म पितामह के पाप जिसके कारण बाणों की शैय्या पर लेटना पड़ा

भीष्म पितामह के पाप जिसके कारण बाणों की शैय्या पर लेटना पड़ा

महाभारत और रामायण दो ऐसी पौराणिक कथा संग्रह है जिसके द्वारा हम जीवन के समस्त अवयवो का ज्ञान प्राप्त कर सकते है। जितना ज्ञान हमे केवल इन दो पुस्तकों से प्राप्त हो सकता है उतना ज्ञान हमे जीवन भर अध्ययन करने से भी नहीं मिल सकता है। आज हम महाकाव्य महाभारत मे वर्णित एक ऐसी…

इस नवरात्रि घर मे करे सुख समृद्धि का स्वागत

इस नवरात्रि घर मे करे सुख समृद्धि का स्वागत

सनातन धर्म के अनुसार हर वर्ष 2 बार नवरात्रि को उपासना पर्व के रूप मे मनाया जाता है। वैसे तो मूलतः सनातन धर्म मे 4 नवरात्रि पर्व का उल्लेख देखने को मिलता है लेकिन जिनमे से 2 नवरात्रि को गुप्त नवरात्रि के रूप मे जाना जाता है और 2 नवरात्रि को सर्वमान्य रूप मे आयोजित…

तुलसीदास की रचना और हनुमान जी की कृपा आपका भाग्य बदल सकती है

तुलसीदास की रचना और हनुमान जी की कृपा आपका भाग्य बदल सकती है

हम सभी जानते है देश के और सनातन समाज के मन मे तुलसीदास जी ने अपनी रचनाओं के जरिये जो भक्ति भाव का उद्भव किया है वो कोई और नहीं कर सकता है। स्वयं आचार्य रामचन्द्र शुक्ल ने भी भक्ति आंदोलन मे तुलसीदास जी की महिमा का जो वर्णन अपने लेखों के जरिये किया है…

लाल बहादुर शास्त्री सादा जीवन उच्च विचार का सच्चा उदाहरण

लाल बहादुर शास्त्री सादा जीवन उच्च विचार का सच्चा उदाहरण

02 अक्टूबर को भारत देश मे राष्ट्रीय त्योहार के रूप मे मनाया जाता है। इस तारीख को देश को 2 महान विभूतियों के जन्मदिन के रूप मे मनाया जाता है। हर बच्चा जानता है इस दिन महात्मा गांधी और लालबहादुर शास्त्री के जयंती के रूप मे मनाया जाता है। इसी के कारण आज हम अपने…

भारतीय सभ्यता का एक युग जो कहीं खोता जा रहा है

भारतीय सभ्यता का एक युग जो कहीं खोता जा रहा है

आज बहुत दिनों बाद पुराने दिनों की याद आ गई 90 की दशक की पैदाइश हूँ। जन्म भी एक छोटे से शहर मे हुआ था। 90 के दशक के बच्चे तो अब बच्चे नहीं रहे लेकिन ये लोग सबसे ज्यादा बदलाव देखने वाले लोगो मे आते है। यही लोग है जिन्होने एक धीमी गति से…

राष्ट्रकवि दिनकर रचित रश्मिरथी द्वारा ईश्वर वर्णन- जयंती विशेष

राष्ट्रकवि दिनकर रचित रश्मिरथी द्वारा ईश्वर वर्णन- जयंती विशेष

राष्ट्रकवि रामधारी सिंह दिनकर का जन्म दिवस 23 सितंबर को मनाया जाता है। इनकी कृति संस्कृति के चार अध्याय हेतु इन्हे साहित्य अकादमी पुरस्कार से नवाजा गया था। साथ ही साथ पद्मविभूषण से सम्मानित किया गया है। दिनकर जी की रचना रश्मिरथी, जिसमे महाभारत का उद्धहरण किया गया है और जो कविता संग्रह मूलतः कर्ण…

आशीर्वाद क्या है, सनातन धर्म मे क्या है इसकी महत्ता

आशीर्वाद क्या है, सनातन धर्म मे क्या है इसकी महत्ता

सनातन धर्म मे आशीर्वाद को उस अवयव के रूप मे देखा जाता है जो हमारे जीवन की बाधाओं परेशानियों को दूर करती है। हमारे समाज मे अपने से बड़े को नमस्कार एवं प्रणाम करने के उपरांत बड़ों द्वारा आशीर्वाद लेने की परंपरा है। आशीर्वाद दो शब्दो आशीष और वाद के संधि से बना है। जिसके…

आदर्श विद्यार्थी के गुण- कैसे बने Ideal Student

आदर्श विद्यार्थी के गुण- कैसे बने Ideal Student

आदर्श विद्यार्थी के गुण- विद्यार्थी जीवन बहुत ही संघर्षपूर्ण जीवन होता है और इस संघर्ष रूपी जीवन का सही परिणाम मिलने पर हमे एक खुशहाल जीवन का उफार मिलता है। आज के समय मे विद्यार्थी जीवन की परिभाषा बहुत बदल चुकी है। लेकिन पारंपरिक गुरुकुल प्रणाली के अनुसार एक विद्यार्थी को बहुत सारे नियमों और…