विंध्य धाम तीर्थ स्थल- माता भगवती और विंध्य पर्वत की पौराणिकता

विंध्य धाम तीर्थ स्थल- माता भगवती और विंध्य पर्वत की पौराणिकता

उत्तर प्रदेश राज्य का मिर्जापुर जिला प्राकृतिक रूप से जितना समृद्ध है पौराणिक रूप से भी वो उतना ही महत्व रखता है। इसी मिर्जापुर जिले से विंध्याचल पर्वत की श्रेणियाँ गुजरती है और इसी पर्वत श्रेणी पर माता विंध्याचल का ऐतिहासिक और पौराणिक मंदिर स्थित है। गंगा नदी के तट पर बसा ये नगर और…

हरिद्वार कुम्भ मेला 2021- आध्यात्मिक साक्षात्कार की यात्रा

हरिद्वार कुम्भ मेला 2021- आध्यात्मिक साक्षात्कार की यात्रा

सनातन धर्म मे कुम्भ मेले एवं स्नान का बहुत ही महत्वपूर्ण स्थान है। 4 वर्ष के अंतराल पर देश के 4 प्रमुख तीर्थ स्थलों पर कुम्भ मेले का आयोजन होता है। इस बार भी उत्तराखंड राज्य के हरिद्वार में कुम्भ मेला 2021 का आयोजन होगा। आज हम बात करेंगे इस कुम्भ मेले की इसके स्वरूप…

देव दीपावली धरती पर स्वर्ग का एहसास- अयोध्या एवं वाराणसी

देव दीपावली धरती पर स्वर्ग का एहसास- अयोध्या एवं वाराणसी

कार्तिक मास की अमावस्या तिथि को हम सब दीपावली का त्योहार मानते है। मान्यता है कि इस दिन प्रभु श्रीराम लंका से अयोध्या वापस आते है और अमावस्या की काली रात होने के कारण दीपों से पूरे नगर को सजाया जाता है साथ ही साथ इसी तिथि को माता लक्ष्मी का अवतरण दिवस माना जाता…

महाकाल नगरी उज्जैन दर्शन- प्रमुख दर्शनीय स्थल

महाकाल नगरी उज्जैन दर्शन- प्रमुख दर्शनीय स्थल

मध्य प्रदेश राज्य के उज्जैन जिला जिसे महाकाल की नगरी के नाम से भी जाना जाता है। भगवान शिव के 12 ज्योतिर्लिंगों मे प्रमुख श्री महाकाल प्रभु ज्योतिर्लिंग के कारण इसे महाकाल नगरी का नाम प्रदान किया गया। उज्जैन नगरी का नाम सप्त पूरियों मे से भी एक है। जिसे अवंतिका के नाम से जाना…

अयोध्या दर्शनीय स्थल- रामजन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र सम्पूर्ण दर्शन

अयोध्या दर्शनीय स्थल- रामजन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र सम्पूर्ण दर्शन

अयोध्या नाम ही काफी है। सप्तपुरियों मे प्रथम तीर्थ स्थल उत्तर प्रदेश के अयोध्या जिले मे स्थित है जिसे पहले फ़ैज़ाबाद जिले के नाम से जाना जाता था। अयोध्या का नाम आते ही सभी के मन मे एक ही विचार आता है कि ये भगवान श्रीराम की जन्मस्थली है। लेकिन अयोध्या दर्शनीय स्थल के जरिये…

केरल के दर्शनीय स्थल- Kerala (God’s Own Country)

केरल के दर्शनीय स्थल- Kerala (God’s Own Country)

केरल (Kerala) भारत का ऐसा राज्य जो प्रकृतिक रूप से बहुत ही मनोरम है। यहा के Western Ghats के प्राकृतिक सौन्दर्य के आगे सभी सुंदरता नगण्य है। पर यहाँ हम बात करेंगे केरल के प्रमुख दर्शनीय स्थलो की जो आस्था के प्रमुख केंद्र है साथ ही साथ उनकी सुंदरता और भव्यता देखने लायक है। भगवान…

10 प्रमुख तीर्थ स्थलों की रेल यात्रा (दिल्ली से)

10 प्रमुख तीर्थ स्थलों की रेल यात्रा (दिल्ली से)

भारतवर्ष में यात्रा के लिए प्रायः लोग ट्रेनों का प्रयोग करते है। ट्रेन का सफर शुखदायक कम खर्चीला है और इसकी पहुँच लगभग देश के हर कोने में है। भारतीय रेल हर वर्ष कुछ नयी ट्रेने तीर्थ स्थलों के लिए आरंभ करती है। और इन्हे इस प्रकार से संचालन करती है जिससे आप आसानी से…

काशी वाराणसी बनारस: भारत की सांस्कृतिक राजधानी, मोक्ष नगरी

काशी वाराणसी बनारस: भारत की सांस्कृतिक राजधानी, मोक्ष नगरी

मान्यताओं के अनुसार काशी वाराणसी बनारस का नाम विश्व के प्राचीनतम नगरों में आता है। इसे शिव और मोक्ष की नगरी के रूप में भी देखा जाता है। वरुणा और असि नामक नदियों के बीच बसे होने के कारण इसे वाराणसी के नाम से जाना जाता है। लोग यहाँ मरने की कामना से अपना अंतिम…

तीर्थयात्रा: वानप्रस्थ आश्रम का आरंभ

तीर्थयात्रा: वानप्रस्थ आश्रम का आरंभ

तीर्थयात्रा: वानप्रस्थ आश्रम का आरंभ- संसार के सभी धर्मो में तीर्थ यात्रा का अपना महत्व है। लोग अपने इष्ट के अवतरण, उनके विचरण के स्थान इत्यादि पर जाते है और उसे तीर्थ यात्रा के रूप में मानते है। लोगो का मानना है तीर्थ यात्रा से हमे आत्मिक और मानसिक संतुष्टि प्राप्त होती है। सनातन धर्म…

यात्रा (अथातो घुमक्कड़ जिज्ञासा): दार्शनिक प्रासंगिकता

यात्रा (अथातो घुमक्कड़ जिज्ञासा): दार्शनिक प्रासंगिकता

उपरोक्त शीर्षक में दी गई लाइन अथातो घुमक्कड़ जिज्ञासा महान दार्शनिक, लेखक राहुल सांकृत्यायन जी के एक निबंध से लिया गया इस निबंध को जब मैंने सर्वप्रथम पढ़ा था तब से ही मैंने इसे अपने जीवन शैली का एक अभिन्न अंग मान लिया। देखा जाये तो यह सही ही है किसी क्षेत्र विशेष, उनकी संस्कृति,…