श्रावण मास में शिव आराधना से करें अपनी मनोकामना पूर्ति

श्रावण मास में शिव आराधना से करें अपनी मनोकामना पूर्ति

वर्षा ऋतु मे श्रावण मास पूर्ण रूप से भगवान शिव को समर्पित है। सभी सनातन धर्मी बड़े ही हर्षोल्लास के साथ इस सम्पूर्ण महीने में भगवान भोले नाथ की आराधना पूजा अर्चना करते है। देवाधिदेव शिव बहुत ही जल्दी प्रसन्न हो जाते है भक्त की समर्पण की भावना मात्र से इन्हे प्रसन्न किया जा सकता…

भगवान को भोग लगाने के क्या है नियम

भगवान को भोग लगाने के क्या है नियम

सनातन धर्म परंपरा मे ईश्वर आराधना के कई तरीके अथवा मार्ग बताए गए है। जिनमे तप, हवन, मंत्र, भक्ति और प्रेम इत्यादि कई मार्ग बताए गए है। जिनमे भक्ति और प्रेम मार्ग मे हम ईश्वर को अपने प्रीत मीट के रूप मे मानते है और उनकी सेवा भाव हम पूर्ण रूप से मानव दिनचर्या के…

रथ यात्रा (Rath Yatra) विशेष: जगन्नाथ पुरी मंदिर के आश्चर्यजनक तथ्य

रथ यात्रा (Rath Yatra) विशेष: जगन्नाथ पुरी मंदिर के आश्चर्यजनक तथ्य

आदि शंकराचार्य ने सम्पूर्ण भारत के चार दिशाओं में चार धाम की स्थापना की उनमे से पूर्व दिशा में प्रभु जगन्नाथ धाम स्थित है। मान्यता है कि भगवान श्री कृष्ण की आराधना  जगन्नाथ  प्रभु के रूप में होती है। ओडिसा राज्य के पूरी जिले में समुद्र तट के निकट भगवान जगन्नाथ का मंदिर स्थापित है।…

चतुर्मास जब भगवान विष्णु शयन करते है- देवशयनी एकादशी

चतुर्मास जब भगवान विष्णु शयन करते है- देवशयनी एकादशी

आषाढ़ शुक्ल पक्ष एकादशी के दिन को हरिशयनी एकादशी या फिर देवशयनी एकादशी के रूप मे माना जाता है। वैसे तो वर्ष मे कुल 24 एकादशी होती है। लेकिन आषाढ़ मास शुक्ल पक्ष की एकादशी और कार्तिक मास शुक्ल पक्ष की एकादशी का महत्व बहुत अधिक है। इन्ही चार मास के अंतराल को चतुर्मास के…

Guru Purnima- आध्यात्मिक गुरु न होने पर कैसे करें गुरु पुर्णिमा पूजन

Guru Purnima- आध्यात्मिक गुरु न होने पर कैसे करें गुरु पुर्णिमा पूजन

हमारे भारतीय समाज मे ईश्वर, माता पिता और गुरु इन तीन लोगों को पूजनीय माना गया है। और गुरु का स्थान तो इन सबमे सबसे ऊपर रखा गया है। इसी लिए आषाढ़ मास की पुर्णिमा तिथि को गुरु के पूजन दिवस (guru purnima) के रूप मे मनाया जाता है। गुरु पुर्णिमा के दिन मूलतः आध्यात्मिक…

चिरंजीवी का क्या अर्थ है। और वो सात लोग जो आज भी है अमर।

चिरंजीवी का क्या अर्थ है। और वो सात लोग जो आज भी है अमर।

भारतीय सभ्यता मे जब भी हम अपने बड़ों का अभिवादन करते है तो उनमे से कुछ लोग हमे चिरंजीवी होने का आशीर्वाद देते है। तो फिर आखिर इसका अर्थ क्या है। चिरंजीवी शब्द दो शब्दों से मिलकर बना है चिर और जीवी जिसका मतलब लंबे समय तक जीवन से है। और अगर देखा जाये तो…

जाने पंच देव के बारे में जिनके पूजन से हमारा जीवन खुशहाल होता है।

जाने पंच देव के बारे में जिनके पूजन से हमारा जीवन खुशहाल होता है।

भारतीय सनातन परंपरा में एक परमेश्वर की बात की गई है। लेकिन उन एक परमेश्वर इस जगत के संचालन के लिए कई वर्ग में देव, मानव, नाग, गंधर्व इत्यादि का भी सृजन किया है। हमारी सृष्टि का संचालन सुचारू रूप से चलता रहे उसके लिए कई देवी देवताओं का सृजन हुआ लेकिन इन सभी देवी…

बसंत पंचमी एवं विद्या की देवी सरस्वती का पूजन दिवस

बसंत पंचमी एवं विद्या की देवी सरस्वती का पूजन दिवस

भारतीय सनातन परंपरा मे बहुत सारे त्योहार और उत्सवो का वर्णन है। और हमारे जीवन के समस्त विषय वस्तुओं से संबन्धित देवी देवताओं का वर्णन है। इसी क्रम मे आज हम बसंत पंचमी त्योहार के बारे मे बात करेंगे जिसे सरस्वती पूजन दिवस के रूप मे भी मनाया जाता है। माता सरस्वती को विद्या की…

कैसे हुई कलियुग की शुरुआत और वो 5 स्थान जहां कलियुग का है निवास

कैसे हुई कलियुग की शुरुआत और वो 5 स्थान जहां कलियुग का है निवास

हम सभी जानते है कि भारतीय सनातन परंपरा में चार युगों का वर्णन हैं। और प्रत्येक युग का उसका विशेष गुण और अवगुण है। चारों युगों के द्वारा इस सृष्टि का संचालन होता है। प्रत्येक युग में पाप बढ़ता जाएगा और पुण्य का कार्य घटता जाएगा और अंत में इस सृष्टि का विनाश करके ईश्वर…

एक नहीं पाँच दिवसीय है दीपावली महापर्व- जानिए विस्तार से

एक नहीं पाँच दिवसीय है दीपावली महापर्व- जानिए विस्तार से

कार्तिक मास की अमावस्या तिथि को भारतीय सनातन समुदाय के द्वारा दीपावली के पर्व का आयोजन किया जाता है। उस दिन हम सभी प्रकाशोत्सव का आयोजन बड़ी धूम धाम से मानते है। लक्ष्मी पूजन गणेश पूजन और धन के देवता कुबेर का पूजन हम बहुत ही विधि विधान से करते है। दीपों के जरिये पूरे…