धर्म परिवर्तन एक कपोल कल्पना- दार्शनिक विवेचना

धर्म परिवर्तन एक कपोल कल्पना- दार्शनिक विवेचना

समय समय पर हमारे देश और अन्य देशों मे धर्म परिवर्तन संबंधी खबरें सुनने को मिल जाती है। कहीं किसी ने धर्म परिवर्तन कर लिया या फिर कहीं किसी का जबरन अथवा प्रलोभन देकर धर्म परिवर्तन करा दिया गया। पर क्या सच मे धर्म परिवर्तन जैसी कोई व्यवस्था मूर्त रूप मे है या फिर ये…

हठ योग की रहस्यमयी दुनिया- योग दिवस 21 जून विशेष

हठ योग की रहस्यमयी दुनिया- योग दिवस 21 जून विशेष

आज 21 जून के दिन हम लोग अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के रूप मे मनाते है। संयुक्त राष्ट्र संघ द्वारा सात साल पहले आज के दिन योग दिवस मनाने का प्रचलन किया था। सभी लोग मानते है कि योग की शुरुआत और इसका उद्भव हमारे भारत देश मे ही हुआ है। महर्षि पतंजलि द्वारा दिया गया…

एक शासक के गुण पुरातन सनातन धर्म की नजर में-

एक शासक के गुण पुरातन सनातन धर्म की नजर में-

हम कहावतों मे भी बोलते है कि जंगल का भी एक राजा होता है। हाँ भले उनके नियम शक्ति आधारित होता है लेकिन राजा अथवा शासक होना बहुत आवश्यक है। और खासकर जब हम बात करें मानव समाज कि यहाँ शासक के तात्पर्य उस सत्ता से है जो सम्पूर्ण समाज को एक रूप में बांध…

सेवा धर्म क्या है सेवा धर्म मानवता की पहचान

सेवा धर्म क्या है सेवा धर्म मानवता की पहचान

मानव एक बहुत ही अद्भुत और बुद्धिमान प्राणी ही और मानव को परिभाषित करने के लिए हम मानवता, समाज और विधि इत्यादि जैसे शब्दों का प्रयोग करते है। लेकिन अगर इन सभी शब्दों सहयोग शब्द से ही पूर्ण रूप दिया जा सकता है। मानव प्रजाति के विकास और उसके सुचारु संचालन के लिए एक दूसरे…

मृत्यु उपरांत मनुष्य की जमा पूंजी- धर्म शास्त्र के अनुसार

मृत्यु उपरांत मनुष्य की जमा पूंजी- धर्म शास्त्र के अनुसार

मानव ही नहीं बल्कि कोई भी प्राणी हो जब तक उसका जीवन रहता है वो कभी शांत नहीं बैठता उसका पूरा जीवन जीवन के सही संचालन, संसाधनों की तलाश इत्यादि मे ही लगा रहता है। खासकर जब बात मानव की हो तो ये तो अन्य प्राणियों से चार कदम आगे होता है। एक जानवर केवल…

राजा विदुर ने बताए हैं एक सफल और बुद्धिमान इंसान के 5 गुण- विदुर नीति

राजा विदुर ने बताए हैं एक सफल और बुद्धिमान इंसान के 5 गुण- विदुर नीति

भारतीय सनातन परंपरा मे कई सारी नीति और आदर्श पिटिका के बारे मे बताया गया है जिनमे चाणक्य और विदुर नीति बहुत ही प्रसिद्ध है। ये नीति सूत्र हमे जीवन यापन के सही मार्ग के बारे मे बताते है और इन नीतियों के पालन कर के हम अपने जीवन के सभी लाभों को प्राप्त कर…

पाँच तत्व अथवा पंच महाभूत क्या हैं- दार्शनिक विवेचना

पाँच तत्व अथवा पंच महाभूत क्या हैं- दार्शनिक विवेचना

संसार के सारे महान वैज्ञानिक एवं तत्वशास्त्री संसार और जगत के रहस्यों को जानने हेतु जिज्ञासु रहते है। और कई वैज्ञानिकों ने हमारा जगत मे तीन मूल तत्वों के बारे मे बताया है। जो कि ठोस, द्रव और गैस के रूप मे जाने जाते है। लेकिन सनातन परंपरा के दार्शनिको और तत्व मीमांसियों ने कुल…

धर्म और नीति क्या है, इनका मूल स्वरूप क्या है और इसके उद्देश्य क्या है।

धर्म और नीति क्या है, इनका मूल स्वरूप क्या है और इसके उद्देश्य क्या है।

दुनिया के हर देश और समाज मे धर्म और उसके कुछ नियम जिन्हे हम नीति के रूप मे जानते है, जो हमे हर देश काल परिस्थिति मे देखने को मिलते है। और जब बात आती है भारतवर्ष की तो यहाँ तो कई धर्म और उनकी नीतियाँ है और सबसे प्रमुख है सनातन धर्म और उनकी…

वृन्दावन की गोपियों का भक्ति योग- दार्शनिक विवेचना

वृन्दावन की गोपियों का भक्ति योग- दार्शनिक विवेचना

भारतीय सनातन धर्म परंपरा मे सभी का परम लक्ष्य होता है उस परम सत्ता की प्राप्ति करना और इसको प्राप्त करने के लिए कई तरह के मार्ग बताए गए है जिनमे सबसे कठिन मार्ग है हठ योग और सबसे आसान मार्ग है भक्ति योग बहकती योग को भी दो भागों मे बांटा गया है जिनमे…

रामायण के कुछ प्रेरणादायक प्रसंग भाग 1- राम की शालीनता (दार्शनिक विवेचना)

रामायण के कुछ प्रेरणादायक प्रसंग भाग 1- राम की शालीनता (दार्शनिक विवेचना)

भारतीय सनातन परंपरा मे जीतने भी शास्त्र या धार्मिक ग्रंथ है वो हमे धर्म मे निहित नियमो और निर्देशों के साथ साथ कई प्रसंगों के जरिये भी कई प्रेरणादायक बातें बताते है जो हमे जीवन के सही मार्ग के अनुशरण करने मे बहुत ही सहयोगी साबित होते है। आज हम इसी के अंतर्गत रामायण के…