घर में सुख समृद्धि के लिए अवश्य लगाए ये पौधे

घर में सुख समृद्धि के लिए अवश्य लगाए ये पौधे

हर किसी का सपना होता है है कि उसका अपना छोटा स घर हो साथ ही उस घर मे सभी सुविधाओं के साथ एक छोटा स बगीचा हो। पर बगीचे मे कौन से पौधे अच्छे होते है और कौन से नहीं इस बात का पता लगा पाना थोड़ा कठिन होता है। तो आज के इस…

पंचामृत पंचगव्य और चरणामृत क्या होते है और इनका महत्व क्या है।

पंचामृत पंचगव्य और चरणामृत क्या होते है और इनका महत्व क्या है।

सनातन समाज में ईश भक्ति के लिए बहुत तरह के विधि विधानों का प्रयोग होता है। हम अपने ईश्वर को की तरह के भोग लगते है उनका शृंगार करते है और एक मानव की तरह या फिर एक बालक की तरह ही उनका सम्पूर्ण पूजन किया जाता है जिसमे भोग के साथ चरणामृत पंचामृत और…

केदारनाथ शिवलिंग क्यों है सभी शिवलिंगों से अलग- कथा प्रसंग

केदारनाथ शिवलिंग क्यों है सभी शिवलिंगों से अलग- कथा प्रसंग

सनातन समाज मे चार धाम, सप्त पूरियों के साथ साथ 12 ज्योतिर्लिंग का बहुत ही ज्यादा महत्व है। खास कर केदारनाथ धाम जो उत्तर के चार धामों मे भी सम्मिलित है। उत्तराखंड के पहाड़ों पर स्थित केदारनाथ धाम बहुत ही मनोरम तीर्थ स्थल है। यहाँ दर्शन से स्वयं भोले नाथ के दर्शन का अनुभव प्राप्त…

सनातन और समाज- 3 क्या धर्म परिवर्तन संभव या फिर उचित है।

सनातन और समाज- 3 क्या धर्म परिवर्तन संभव या फिर उचित है।

दोस्तों आज के सनातन और समाज के इस तीसरी कड़ी मे हम बात करेंगे धर्म परिवर्तन के बारे में क्यों होता है, करना संभव है या फिर उचित है या नहीं। साथ ही क्या धर्म को लाभ हानि से जोड़कर इसे करना सही होता है। धर्म का सही अर्थ है धारण करना धारयति इति धर्मः…

अयोध्या (श्री राम जन्म भूमि) महातीर्थ जाने योग्य समय कौन सा समय होगा बेहतर

अयोध्या (श्री राम जन्म भूमि) महातीर्थ जाने योग्य समय कौन सा समय होगा बेहतर

दोस्तों सनातन धर्म में तीर्थयात्रा का बहुत ही महत्वपूर्ण स्थान है सनातन धर्म के धार्मिक और पौराणिक स्थानों की यात्रा करने से पुण्य लाभ प्राप्त होता है। वैसे तो सनातन संप्रदाय मे बहुत सारे तीर्थ स्थलों का वर्णन है लेकिन उन्मे से चार धाम और सप्तपुरियों का बहुत ही महत्वपूर्ण स्थान है। और इन्ही सप्तपूरियों…

सनातन और समाज- 2 महाभारत के कुछ किरदार और आज के समय मे उनसे लेने लायक सीख

सनातन और समाज- 2 महाभारत के कुछ किरदार और आज के समय मे उनसे लेने लायक सीख

दोस्तों आज सनातन और समाज के दूसरी कड़ी मे महाभारत के उन कुछ किरदारों की बात करेंगे जिनसे हम सीख लेकर अपने जीवन में अनुसरण कर सकते है। महाभारत एक वृहद कथा सागर है जहां हर दिन कुछ न कुछ हमे सीखने को मिलता है। अच्छे बुरे सभी तरह के किरदारों से भरा हुआ है…

सनातन और समाज- 1 आज और सनातन समाज मे विद्यार्थी जीवन

सनातन और समाज- 1 आज और सनातन समाज मे विद्यार्थी जीवन

दोस्तों मैंने अपने इस ब्लॉग के जरिए एक नया अध्याय प्रारंभ किया है जिसके अंतर्गत मैं सनातन धर्म में वर्णित जीवन शैली और आज के समाज मे उसी जीवन शैली के मध्य का अंतर बताने का प्रयास करूंगा। तो आज का विषय है विद्यार्थी जीवन दोनों ही देश काल मे किस प्रकार से था। सनातन…

श्रावण मास में शिव आराधना से करें अपनी मनोकामना पूर्ति

श्रावण मास में शिव आराधना से करें अपनी मनोकामना पूर्ति

वर्षा ऋतु मे श्रावण मास पूर्ण रूप से भगवान शिव को समर्पित है। सभी सनातन धर्मी बड़े ही हर्षोल्लास के साथ इस सम्पूर्ण महीने में भगवान भोले नाथ की आराधना पूजा अर्चना करते है। देवाधिदेव शिव बहुत ही जल्दी प्रसन्न हो जाते है भक्त की समर्पण की भावना मात्र से इन्हे प्रसन्न किया जा सकता…

जिसे श्री राम मारना चाहते थे उसे हनुमान जी ने बचाया- कथा प्रसंग

जिसे श्री राम मारना चाहते थे उसे हनुमान जी ने बचाया- कथा प्रसंग

आज हम आप लोगो को रामायण की एक बहुत ही अनुपम कथा बताएँगे। जिसमे किस प्रकार भक्ति के द्वारा आप भगवान को जीत सकते है उसके बारे मे बताया गया है। सच्ची भक्ति और सत्या के साथ के द्वारा आप भगवान के क्रोध को भी शांत कर सकते है। और भगवान अपने भक्तों का कभी…

भगवान को भोग लगाने के क्या है नियम

भगवान को भोग लगाने के क्या है नियम

सनातन धर्म परंपरा मे ईश्वर आराधना के कई तरीके अथवा मार्ग बताए गए है। जिनमे तप, हवन, मंत्र, भक्ति और प्रेम इत्यादि कई मार्ग बताए गए है। जिनमे भक्ति और प्रेम मार्ग मे हम ईश्वर को अपने प्रीत मीट के रूप मे मानते है और उनकी सेवा भाव हम पूर्ण रूप से मानव दिनचर्या के…