आदर्श विद्यार्थी के गुण- कैसे बने Ideal Student

आदर्श विद्यार्थी

आदर्श विद्यार्थी के गुण- विद्यार्थी जीवन बहुत ही संघर्षपूर्ण जीवन होता है और इस संघर्ष रूपी जीवन का सही परिणाम मिलने पर हमे एक खुशहाल जीवन का उफार मिलता है। आज के समय मे विद्यार्थी जीवन की परिभाषा बहुत बादल चुकी है लेकिन पारंपरिक गुरुकुल प्रणाली के अनुसार एक विद्यार्थी …

Read moreआदर्श विद्यार्थी के गुण- कैसे बने Ideal Student

भगवान कहाँ हैं भगवान किस तरफ हैं और भगवान क्या कर सकते हैं – कथा प्रसंग

bhagvan kahan hain

भगवान कहाँ हैं भगवान किस तरफ हैं और भगवान क्या कर सकते हैं – आज के शीर्षक से ही हम जान सकते है कि आज इस लेख के जरिये हम क्या बताने का प्रयास करेंगे। हम सब के मन में एक न एक बार अवश्य ये विचार आते ही है। …

Read moreभगवान कहाँ हैं भगवान किस तरफ हैं और भगवान क्या कर सकते हैं – कथा प्रसंग

ग्रहों की दृष्टि से बचने के सामान्य उपाय

ग्रहों की दृष्टि

ग्रहों की दृष्टि- सनातन धर्म एवं ज्योतिष शस्त्र के अनुसार प्रत्येक जीव के जन्म से लेकर मृत्यु पर्यंत ग्रहों की दृष्टि का प्रभाव बना रहता है। कुछ ग्रह हमारे जीवन को बहुत ही खुशहाल बना देते है और कुछ ग्रह अपनी कुदृष्टि एवं नीच भाव के कारण हमारे जीवन मे …

Read moreग्रहों की दृष्टि से बचने के सामान्य उपाय

पितृ पक्ष का महत्व एवं तर्पण विधि- पितरों को समर्पित एक पखवाड़ा

पितृ पक्ष का महत्व एवं तर्पण विधि

सनातन धर्म में आश्विन मास के कृष्ण पक्ष को पूरी तरह पितरों को समर्पित किया गया है। इस वर्ष 01 सितंबर से 17 सितंबर तक पितृ पक्ष का आयोजन किया जायेगा। सनातन धर्म मे संतानोत्पत्ति का मूल उद्द्येश्य ही यही होता है कि संतान तीन तरह के ऋणों से उन्हे …

Read moreपितृ पक्ष का महत्व एवं तर्पण विधि- पितरों को समर्पित एक पखवाड़ा

विद्यार्थी शिक्षक और शिक्षक दिवस का महत्व- 05 सितंबर शिक्षक दिवस दार्शनिक विवेचना

विद्यार्थी शिक्षक और शिक्षक दिवस का महत्व

विद्यार्थी शिक्षक और शिक्षक दिवस का महत्व- हम जिस भी समाज मे रहते है उसमे अगर उस समाज का सही निर्माण और संचालन होता है तो उसमे शिक्षक का बहुत ही बड़ा योगदान होता है। एक बच्चे का मानसिक और सामाजिक विकास और उसके समाज के प्रति योगदान देने केलिए …

Read moreविद्यार्थी शिक्षक और शिक्षक दिवस का महत्व- 05 सितंबर शिक्षक दिवस दार्शनिक विवेचना

सनातन धर्म अनुसार ऐसे करें दिन की शुरुआत

ऐसे करें दिन की शुरुआत

प्रायः हम देखते है जब किसी व्यक्ति का दिन अच्छा नहीं रहता है तो उसके मुह से सुनने को मिलता है कि आज पता नहीं किसका चेहरा देखा था जिससे आज मेरा दिन अच्छा नहीं जा रहा है। यानि की हमारे दिन की शुरुआत का हमारे पूरे दिन पर बहुत …

Read moreसनातन धर्म अनुसार ऐसे करें दिन की शुरुआत

पांडवों की मृत्यु कैसे हुई और उनकी स्वर्ग यात्रा का वृतांत

पांडवों की मृत्यु

महाभारत एक महाकाव्य है और इसमे बहुत सारी कहानी और कथाओं का संग्रह है। इसी क्रम मे आज के प्रसंग मे हम जानेंगे कि पांडवों की मृत्यु कैसे हुई। तथा तथा उनकी मृत्यु से पहले कौन कौन सी घटनाएँ घटी। और उनकी स्वर्ग की यात्रा मे उनके साथ क्या हुआ। …

Read moreपांडवों की मृत्यु कैसे हुई और उनकी स्वर्ग यात्रा का वृतांत

Childish और Childlike behavior में अंतर तथा बच्चों मे Childlike Behavior की उत्पत्ति कैसे करें

Childish और Childlike behavior में अंतर

एक बच्चे मे सीखने का गुण और उसके प्रति लालसा बहुत ही ज्यादा रहती है। कई बार हम अपने आस पास मे ऐसे बच्चे देखते है जो प्रायः चीजे देखकर उनके बारे मे जानने की बहुत ही ज्यादा जिज्ञासा रहती है। और जो भी उनके आस पास रहता है उससे …

Read moreChildish और Childlike behavior में अंतर तथा बच्चों मे Childlike Behavior की उत्पत्ति कैसे करें

भगवान श्री कृष्ण की मृत्यु का रहस्य और यदुवंश का नाश- कथा प्रसंग

भगवान श्री कृष्ण की मृत्यु का रहस्य

हम सभी जानते है कि भगवान श्री कृष्ण स्वयं प्रभु हरि के अवतार स्वरूप थे। और जब इनका पृथ्वी पर आने का उद्द्येश्य पूरा हो जाता है तो इन्हे अपने अवतारी स्वरूप का त्याग कर अपने लोक मे वापस जाना होता है। तो आज हम जानेंगे कि भगवान श्री कृष्ण …

Read moreभगवान श्री कृष्ण की मृत्यु का रहस्य और यदुवंश का नाश- कथा प्रसंग

सफलता के मूल मंत्र, सफल व्यक्ति की पहचान- दार्शनिक विवेचना

सफलता के मूल मंत्र

सफलता के मूल मंत्र- मनुष्य एक सामाजिक प्राणी है। और इस समाज मे हर कोई एक भाग दौड़ मे रहता है वो है, सफलता प्राप्ति की दौड़। इंसान पूरी उम्र इस दौड़ मे लगा रहता है। लेकिन उसको शायद समाज तो सफल मान सकता है लेकिन प्रतिस्पर्धा और ज्यादा पाने …

Read moreसफलता के मूल मंत्र, सफल व्यक्ति की पहचान- दार्शनिक विवेचना